भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Metallurgy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

< previous123456Next >

Dabber

डैबर, थापनी
(1) साँचे को थामे रखने और प्रबलित करने के लिए लोम प्लेट के पृष्ठ पर उपस्थित प्रक्षेपण संचक। लोम प्लेट, क्रोड अथवा साँचे के लिए आधार प्लेट का काम करती है और प्रत्येक कार्य के लिए आवश्यकतानुसार लोहे में अलग से संचकित की जाती है। साँचा बनाने के लिए फलक को नुकीली शलाका से थपक देते हैं ताकि प्लेट पर प्रक्षेपण बन जाएँ।
(2) साँचे और पैटर्न के बीच बालू को कूटने के लिए प्रयुक्त कुट्टक जिसका प्रयोग कर्मी, ढलाईशाला में करते हैं।

Dairy bronze

डेरी कांसा
एक ताम्र मिश्रातु जिसमें 8% जस्ता, 4% वंग, 20% निकैल और 24% कोबाल्ट होता है। इसका रजत श्वेत रंग होता है। इसका आसानी से निर्जर्मीकरण हो सकता है अतः दूध के पात्रों और संयंत्रों को बनाने में इसका विस्तृत उपयोग होता है।

D.A.L. process (Diffusion Alloy Ltd )

डी0 ए0 एल0 प्रक्रम
एक धातु पर दूसरी धातु का लेप करने की एक पेटेन्ट विधि। इस्पात, निकैल या तांबा आदि की बनी जिस वस्तु पर लेप करना हो उसे अमोनियम क्लोराइड आदि किसी हैलाइड के साथ गरम किया जाता है। अमोनियम क्लोराइड में फेरो क्रोमियम जैसे किसी लेपक धातु का चूर्ण भी मिला होता है। यह क्रिया स्टेनलेस इस्पात के पात्र में की जाती है। इस्पात के पात्र को सिलिकेट या बोरोसिलिकेट द्वारा बंद कर दिया जाता है जो वायुमंडलीय ताप पर ठोस रहता है किंतु अभिक्रिया के ताप पर पिघल जाता है या मुलायम होकर बहने लगता है। ताम्र छड़ों पर ऐलुमिनियम का लेप चढ़ाने के लिए यह क्रिया 750° ताप पर छः घंटे तक की जाती है।

Darby process

डर्बी प्रक्रम
खुली भट्टी इस्पात के कार्बुरण की विधि। इसमें पिघले इस्पात की कार्बन के साथ क्रिया की जाती है। इसमें कार्बन को कोयले, ग्रैफाइट या कोक के रूप में प्रयुक्त किया जाता है।

D’Arget’s alloy

डी आर्गेट मिश्रातु
एक गलनीय मिश्रातु जिसमें 50% विस्मथ, 25% सीसा और 25% वंग होता है। इसका गलनांक 93°C होता है।

Davis bronze

डैविस कांसा
एक ताम्र मिश्रातु जिसमें 30% निकैल, 4% लोहा, और 1% मैंगनीज होता है। यह ऑक्सीकरणरोधी होता है। इसका उपयोग टर्बाइन ब्लेडों और उच्चताप वाल्वों में होता है। इसे डैविस धातु भी कहते हैं।

Dead annealing

पूर्ण अनीलन
क्रांतिक ताप परास से अधिक ताप तक इस्पात को गरम कर उसी ताप पर बनाए रखना और बाद में धीरे धीरे ठंडा करना ताकि अधिक से अधिक संभव मृदुता या तन्यता उत्पन्न की जा सके।

Dead banking

पूर्ण निष्क्रियण
देखिए– Banking

Dead burnt

पूर्ण दग्ध
उच्चतापसह पदार्थों के लिए प्रयुक्त शब्द जिन्हें इतने अधिक ताप तक गरम किया जाता है कि वे आर्द्रतारोधी हो जाते हैं और उनमें पश्च-आकुंचन की संभावना भी कम रहती हैं।

Dead soft steel

पूर्ण मृदु इस्पात
एक कार्बन इस्पात जिसमें 0.15% तक कार्बन होता है। पूर्णतया अनीलित होने पर इसका आसानी से संविरचन किया जा सकता है। इसका उपयोग सामान्य इंजीनियरी कार्यों में किया जाता है।

Dead roasting

पूर्ण भर्जन
जिंक सल्फाइट (स्फैलेराइट) के भर्जन के संदर्भ में इसे ‘स्वीट’ भर्जन भी कहते हैं।
देखिए — Roasting

Dead steel

पूर्णहत इस्पात
देखिए– Killed steel

Dealuminising

विऐलुमिनन
ऐलुमिनियम-कांस्य मिश्रातुओं में होने वाला एक प्रकार का संक्षारण जिसमें प्रमुखतया ऐलुमिनियम अंश का क्षय होता है। यह क्रिया पीतलों और मैंगनीज कांस्यों में होने वाले ‘वियशदन’ जैसी है।

Debye-Scherrer method

डेबाई-शेरर विधि
एक्स-किरण क्रिस्टल विश्लेषण की एक विधि जिसमें एकवर्णी अथवा बहुवर्णी एक्स किरण पुंज का प्रयोग किया जाता है। इसमें सूची छिद्र, प्रायः पूरी तरह अनियमित रूप से अभिविन्यस्त होते हैं। फोटोग्राफी फिल्म एक ऐसे बेलन में मुड़ी रहती है जिसका अक्ष, क्रिस्टलीय नमूने पर एक्स किरण पुंज के लंबवत होता है।

Decarburization

बिकार्बुरण
किसी फेरस मिश्राणु की सतह से कार्बन को पृथक करना। इसके लिए फेरस मिश्रातु को ऐसे माध्यम में गरम किया जाता है जो सतह पर कार्बन के साथ क्रिया करता है।

Decopperisation

विताम्रण
सीसे के परिष्करण के लिए प्रयुक्त शब्द जब कि तांबा अशुदि्ध के रूप में विद्यमान हो। यह क्रिया (1) गलनिक पृथक्करण तथा (2) गलित सीसे में गंधक मिला कर कॉपर सल्फाइड का पृथक्करण पर निर्भर करती है।

Decrepitation

चटक भर्जन
गर्म करने पर कुछ खनिजों का व्यवहार जबकि उनके छोट छोटे टुकड़े चटचटाहट की ध्वनि के साथ टूटकर उड़ने लगते हैं। विषमदैशिक क्रिस्टलों की तीन क्रिस्टलीय दिशाओं में भिन्न-भिन्न ताप-प्रसार के कारण ऐसा होता है। यह कुछ कार्बोनेट खनिजों के निस्तापन के समय भी हो सकता है।

Deep drawing

गंभीर कर्षण
एक अतप्त कर्मण प्रक्रम जिसमें धातुओं का पर्याप्त सुघट्य विरूपण हो जाता है। इसमें चादरी धातु या पट्टी का रूपदा द्वारा खोखले बेलनाकार या अन्य वांछित आकार में कर्षण किया जाता है।

Degassing

विगैसन
ठोसों (धातुओं) या द्रवों में से विलीन गैसों को पृथक करना। यह क्रिया निम्नलिखित विधियों द्वारा संपन्न की जाती है।
1. रासायनिक विगैसन (Chemical degassing)– इसमें पिघली धातु में या तो विऑक्सीकारकों को मिलाया जाता है अथवा हाइड्रोडन गैस के बुलबुलों को प्रविष्ट किया जाता है। ठोस धातु में से गैसों को पृथक करने के लिए उसे हवा की उपस्थिति में अथवा निर्वात में गरम किया जाता है।
2. रेचन (Purging) — भट्टियों या तापन-पेटियों से हवा अथवा अन्य अवांछित गैसों को पृथक करना। यह क्रिया दीप्त-अनीलन आदि क्रियाओं से पहले की जाती है। भंजित अमोनिया अथवा हाइड्रोजन को इस्तेमाल करने से पहले नाइट्रोजन आदि किसी अक्रिय गैस से उनका रेचन करना आवश्यक होता है। इसे प्रधावन विगैसन भी कहते हैं।
3. निर्वात विगैसन (Vaccum degassing)– अधिक ताप पर और उच्च निर्वात में धातुओं का संसाधन। उच्च निर्वात से पूर्णतया अक्रिय क्षेत्र बन जाता है और विलीन तथा अवशोषित गैसें निकल जाती है।

Degolding

विस्वर्णन
पार्कस प्रक्रम द्वारा सीसे से स्वर्ण को पृथक करना। इसमें जस्ते को गलित सीसे में विलोडित किया जाता है। जिसके फलस्वरूप स्वर्ण के जस्ते के साथ, अंतराधात्विक यौगिक बनते है। ये यौगिक, द्रव-सीसे में अविलेय होते हैं और इनका गलनांक सीसे से अधिक और आपेक्षिक घनत्व सीसे से कम होता है। अतः ये पृथक प्रावस्था बनाते हैं और इन्हें सीसे से पृथक कर लिया जाता है।
< previous123456Next >

Languages

Dictionary Search

Loading Results

Quick Search

Follow Us :   
  भारतवाणी ऐप डाउनलोड करो
  Bharatavani Windows App