भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Pustakalaya Vigyan Paribhasha Kosh (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

< previous12345678910Next >

calligraphy

सुलेखन
सुन्दर अक्षर लिखने की कला।

call number

बोध संख्या
वह अक्षर, अंक या संख्या जो पृथक् – पृथक् या मिल कर ऐसा बोध चिह्न बनाए जिससे शेल्फ पर पुस्तक के स्थान का ज्ञान हो सके। सामान्यतया यह वर्ग संख्या तथा पुस्तक संख्या की मिलाकर बनाया जाता है।

cameo binding

“कैमिथो जिल्द
जिल्दसाजी की ऐसी शैली जिसम गत्तों के बीच में प्राचीन रत्नों या मेडलों के प्रतिरूप का ठप्पा लगाया जाता है।”

cameragraph

“कैमरा ग्रॉफ
फोटो स्टैट मशीन के समान ऐसी मशीन जिससे कागज़ के दोनों ओर लेखन की प्रतिलिपि प्राप्त की जा सके।”

cancelandum

निरसित पत्र
पुस्तक का वह भाग जिसे खोए हुए पृष्ठों क स्थान पर लगाना हो।

cancelled leaf

निरसित पत्र
देखिए ‘cancelandum’

Canevari binding

केनवरी जिल्द
ऐसी जिल्द जिसका नाम केनवरी (539-625) के नाम से जुड़ा है। इसके बीच के धंसे हुए भाग में रत्नाकृति अलंकरण चिपका या छपा होता है।

canon

अभिनियम, उपसूत्र
ऐसा आधारभूत नियम जो सत्य, प्रामाणिक और आधार के रूप में मान्य हो।

canon of ascertainability

निर्धार्यता अभिनियम
किसी प्रलेख अथवा पुस्तक के आख्या पृष्ठ तथा उसके अतिरेक पृष्ठों पर दी गई सूचनाओं के अनुसार विभिन्न अनुच्छेदों के वरण तथा उपकल्पन का निर्धारण।

canon of book number

पुस्तक संख्या अभिनियम
किसी प्रलेख वर्गीकरण पद्धति में उस पुस्तक संख्या पद्धति का समावेश जिससे ज्ञान के उसी वर्ग में आने वाले प्रलेखों को पृथक किया जा सके।

canon of classics

श्रेण्य ग्रंथ अभिनियम
वर्गीकरण पद्धति में श्रेण्य ग्रंथों के सब संस्करणों, अनुवादों आदि के सब संस्करणों, अनुवादों आदि को एक साथ रखना और तत्पश्चात् उस ग्रंथ की टीका के अन्य संस्करण रखना तथा इसी प्रार प्रत्येक टीका के बाद उसके सारे संस्करण रखने का क्रम।

canon of collection number

वर्गीकरण पद्धति में संग्रह संख्या सारणी का ऐसा प्रबंध जिससे प्रलेखों को उनके कलेवरी, दुर्लभता, उपयोग या अन्य किसी कारण से उनकी विलक्षणता के आधार पर पृथक् किया जा सके।

canon of concomitance

सहवर्तिता अभिनियम
समष्टि के वर्गीकरण में प्रयुक्त किन्हीं दो लक्षणों का सहवर्ती होना।

canon of consistence

अनुगति अभिनियम
प्रलेख की सभी इतर प्रविष्टियों का उस प्रलेख की मुख्य प्रविष्टि से संगति होना। यह संगति शीर्षक एवं अन्य अनुच्छेदों के वरण, उपकल्पन तथा लेखन शैली में होती है।

canon of consistency

संगति अभिनियम
समष्टि के वर्गीकरण में प्रयुक्त होने वाला ऐसा लक्षण जो वर्गीकरण के उद्देश्य में परिवर्तन न होने तक उसी क्रम में प्रयुक्त होता रहे।

canon of consistent sequence

संगत अनुक्रम अभिनियम
जब तक उद्देश्य या उपयोगिता में विशेष अंतर न हो तब तक विभिन्न पंक्तियों में एक जैसे वर्ग आने पर उन सब पंक्तियों में उनका क्रम समान्तर होना।

canon of context

प्रसंग अभिनियम
सूची संहिता के नियमों का निरूपण, पुस्तक उत्पादन की रीति से संबंधित पुस्तक के सूचीकरण लक्षणों की प्रचलित प्रकृति, ग्रंथालय-सेवा की रीति और कोटि के संबंधित ग्रंथालय-सेवा की रीति और कोटि के संबंधित ग्रंथालय के संगठन की प्रचलित प्रकृति तथा प्रकाशित ग्रंथ सूचियों के यों के अस्तित्व के प्रसंग में होना। इसके अतिरिक्त परिवर्तित प्रसंग के अनुसार नियमों का भी समय समय पर संशोधन।

canon of coordinate classes

समकक्ष वर्ग अभिनियम
अधिक सादृश्य वाले वर्गों या पंक्तियों के बीच किसी कम सादृश्य वाले वर्ग या पंक्तियों का न आना।

canon of cross classification

प्रति वर्गीकरण अभिनियम
उन दो या अधिक लक्षणों का एक ही पंक्ति में उपयोग जिससे संगति अभि नियम तथा अनन्यता अभिनियम का उल्लंघन हो जाए।

canon of currency

प्रचलन अभिनियम
वर्गीकृत सूची की वर्ग निर्देश प्रविष्टि तथा शब्दकोशीय सूची की विषय प्रविष्टि में प्रचलित रूप को मान्यता प्राप्त होना।
< previous12345678910Next >

Languages

Dictionary Search

Loading Results

Quick Search

Follow Us :   
  भारतवाणी ऐप डाउनलोड करो
  Bharatavani Windows App