भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Petrology (English-Hindi)(CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

< previous12Next >

idioblastic

स्वब्लास्टिक, पुनःस्वक्रिस्टली :
आग्नेय शैलों में स्वरूपी गठन के अनुरूप, कायान्तरी शैलों में पाया जाने वाला एक प्रकार का गठन जिसमें खनिज-क्रिस्टल अपने अभिलक्षणिक फलकों से युक्त होते हैं ।

idiomorphic

स्वरूपिक, स्वरूपी :
देखिए ‘automorphic’

igneous

आग्नेय :
शैलों के तीन बृहत वर्गों में से उस वर्ग के शैलों के लिए प्रयुक्त एक शब्द जो गलित शैलों (मैग्मा) के पिंडन से बनते हैं ।

igneous lamination

आग्नेय स्तरण :
वितलीय (plutonic) शैलों में सपाट क्रिस्टलों का समानान्तर विन्यास जैसा कि प्रायः स्तरित जटिल शैल-संघों में देखा जाता है ।

igneous rocks

आग्नेय शैल :
गलित मैग्मा के पिंडन (जमने) से निर्मित शैल ।

illite

इलाइट :
मृणमय अवसादों में पाया जाने वाला एक खनिज वर्ग जिसमें मस्कोवाइट की क्रिस्टल संरचना अनिवार्य रूप से मिलती है ।

imbricate structure

अन्तर्ग्रथित संरचना, खपरैली संरचना :
खण्डज (clastic) अवसादों में प्रदर्शित एक ऐसी संरचना जिसमें संगुटिकाश्म अथवा गुटिकाएं (pebble) एक दूसरे के ऊपर खपरैलों की तरह स्थित रहती हैं ।

impact metamorphism

प्रतिघात कायांतरण :
उल्कापिण्डीय प्रतिघात से उत्पन्न कायान्तरण ।

impervious

अप्रवेश्य :
अपारगम्य का समानार्थी । यह शब्द उन शैल स्तरों के लिए प्रयुक्त होता है (जैसे मृत्तिका, शेल आदि) जिसमें से होकर जल, पैट्रोलियम या प्राकृतिक गैस गुजर नहीं सकते ।

impervious rock

अप्रवेश्य शैल :
इस शब्द का प्रयोग जलविज्ञान में होता है, अप्रवेश्य शैल वे शैल होते हैं जिनके आरपार अधस्तल जल में आमतौर पर पाए जाने वाले दाबों और अवस्थाओं में जल व अन्य द्रव नहीं गुजर सकते । अप्रवेश्य शैल दो प्रकार के हो सकते हैं-सरंध्र शैल जैसे मृत्तिका अथवा असरंध्र शैल जैसे कोई संहत ग्रेनाइट । प्रथम स्थिति में छिद्र इतने छोटे होते हैं कि उनमें से पानी अति मंद केशिका-विसर्पण के अतिरिक्त आरपार गुजर नहीं सकता । पारगम्यता की दृष्टि से यद्यपि छिद्र आवश्यक हैं परन्तु वे काफी बड़े साइज के और परस्पर सम्बद्ध होने चाहिएं ताकि द्रवों को संचलन के लिए मुक्त और अविच्छिन्न मार्ग मिल सके ।

impregnation

संसेचन :
ऐसे खनिज निक्षेपों के निर्माण से संबंधित एक उत्पत्ति-मूलक शब्द जिसमें खनिज पश्चजनित होते हैं और आतिथेय शैल में बिखरे रहते हैं ।

inclusion

अन्तर्वेश :
(क) खनिज या शैल में परिबद्ध कोई बाहरी गैस, द्रव या ठोस पदार्थ ।
(ख) आग्नेय शैल में परिबद्ध किसी प्राचीनतर शैल का खण्ड ।

incompetent

असमर्थ :
संरचनात्मक भूविज्ञान में, यह शब्द उन शैल-संस्तरों के लिए प्रयुक्त होता है जो अपेक्षतया एक प्रकार से दुर्बल होते हैं अथवा वे संलग्न शैलों की अपेक्षा प्रतिबल (stress) को बिना विभंग के प्रेषित करने में बहुत कम समर्थ होते हैं ।

incrustation

पपड़ी, पर्पटी :
किसी पिंड के ऊपर या उसके भीतर किसी वस्तु की पपड़ी या कठोर लेप यथा-स्टीम बॉयलर के भीतर चूने का निक्षेप ।

index mineral

सूचक खनिज :
कायांतरित शैलों मे, वह खनिज जिसके प्रथम प्रकटीकरण (कायांतरण की निम्न कोटियों से उच्चतर कोटियों में गुजरने के दौरान) से ही कायांतरण मंडल की बाहरी सीमा का संकेत मिल जाता है ।

inequigranular

असमरकणिक :
क्रिस्टलीय शैलों का वह गठन जिसमें खनिज-कण विभिन्न प्रमापों के होते हैं ।

injection foliation

अंतःक्षेपण शल्कन :
शैल की प्लैस्टिक अवस्थाओं में अन्तःक्षेपण क्रिया के दौरान अत्यधिक दाब के फलस्वरूप विकसित शल्कन ।

injection gneiss

अन्तःक्षेपण नाइस :
वह नाइस जिसकी पट्ट रचना पूर्णतः अथवा अंशतः ग्रेनाइटी मैग्माओं के स्तरानुस्तर अन्तःक्षेपण के कारण होती है ।

injection metamorphism

अंतःक्षेपण कायांतरण :
परतदार, प्ररेखीय मैग्मा के अन्तःक्षेपण एवं तत्वान्तरण से सम्बद्ध अतिवितलीय अन्तर्वेशी शैलों के सन्निकट विकसित कायान्तरण ।

in situ

स्वस्थाने :
अपने ही स्थान में । यह शब्द उन शैलों, मृदाओं और जीवाश्मों के लिए प्रयुक्त होता है जो अपने उसी स्थान पर स्थित रहते हैं जहां वे मूलतः निर्मित या निक्षेपित हुए थे ।
< previous12Next >

Languages

Dictionary Search

Loading Results

Quick Search

Follow Us :   
  भारतवाणी ऐप डाउनलोड करो
  Bharatavani Windows App