भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Petrology (English-Hindi)(CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

glacio-aqueous

हिमजलीय :
हिम तथा जल की मिली-जुली क्रिया से संबद्ध अथवा उससे परिणत ।

glacio-lacustrine

हिम सरोवरी :
हिमनद और सरोवरी परिस्थितियों से संबंधित जैसे किसी हिमनद के उपांतस्थ सरोवरों में, बर्फ के पिघलने से बनी सरिताओं द्वारा निक्षेपित अवसाद ।

glass

काच :
मैग्मा का रवाहीन, संपिडित उत्पाद जिससे कुछ शैलों का सम्पूर्ण रूप से निर्माण हो सकता है, जैसे-ऑब्सीडियन या झावां अथवा केवल शैल की आधात्रिका ।

glassy

काचाभ, काच सदृश, काचीय :
ज्वालामुखी शैलों में विकसित काचसम गठन के लिए प्रयुक्त एक शब्द ।

glauconite

ग्लौकोनाइट :
अभ्रक से घनिष्टतः संबंधित एक हरे रंग का खनिज जो अनिवार्यतः लोहे तथा पोटैशियम का एक जलीय सिलिकेट होता है । यह खनिज सामान्यतः समुद्री उत्पति के अवसादी शैलों में पाया जाता है । यह संज्ञा उन शैलों को भी दी जाती है जिनमें ग्लौकौनाइट खनिज की प्रचुरता होती है ।

glaucophane

ग्लौकोफेन :
एकनतिक ऐम्फिबोल खनिजों में से एक खनिज NaAl (SiO3)2 (FeMg) SiO3 जो कायांतरित शैलों में मिलता है ।

glaucophane-schist

ग्लौकोफेन शिस्ट :
एम्फिबोल शिस्ट का एक प्रकार जिसमें हॉर्नब्लेंड के स्थान पर ग्लौकोफेन अत्यधिक मात्रा में मिलता है । इसके अतिरिक्त इन शैलों में क्वार्ट्ज तथा माइका की विभिन्न किस्मों के साथ-साथ एपिडोट भी आवश्यक रूप से उपस्थित रहता है ।

glaucophane-schist facies

ग्लौकोफेन शिस्ट संलक्षणी :
वह शैल संलक्षणी जिसका उद्भव उच्च दाब (175Kb) तथा निम्न से मध्य तापमान (250-400° से∘ ग्रे∘ ) पर होता है । यह ब्लू शिस्ट संलक्षणी के समतुल्य है । इस संलक्षणी के अधिकांश शैलों में शिष्टामता नहीं होती । विकलर ने इस संलक्षणी का नाम लासोनाइट ग्लौकोफेन संलक्षणी रखा है ।

globulites

गोल क्रिस्टलाणु :
छोटे साइज तथा गोल आकार के क्रिस्टलाणु जो काचीय बहिर्वेधी शैलों में मिलते हैं ।

glomerogranular texture

कणपुंजित गठन :
स्थूलकणिक आग्नेय शैलों में एक जैसे खनिजों के (क्वार्टज्-फेल्डस्पार) क्रिस्टलों के संपृथकन से विकसित गठन ।

glomeropegmatoidal texture

पुंजित पेग्मेटाइटी गठन :
अभ्रक-पिग्मेटाइट का ऐसा गठन जिसमें अभ्रक पुंजों में मिलता है ।

glomeroporphic

पुंजितपॉर्फिरीय :
सभविमी क्रिस्टलों के गुच्छों से निर्मित एक पॉर्फिरिटिक गठन ।

glomerophitic

पुंजितऑफिटिक :
बेसाल्ट डोलेराइट का एक विशेष गठन जिसमें स्वरूपी प्लेजिओक्लेस पट्टियों के मध्य में पाइरॉक्सीन के लघुकणीय पुंज होते हैं ।

glomeroporphyritic

पुंजित पॉर्फिराइटी :
एक या अधिक खनिजों के सुस्पष्ट एवं सघन गुच्छों का पॉर्फिराइटी गठन ।

gneiss

नाइस :
अनियमित रूप से पट्टित एक कायान्तरित शैल जिसमें अभ्रकी खनिजों की अपेक्षा क्वार्ट्ज और फेल्डस्पार खनिजों की अतिप्रचुरता होने के कारण शिस्टाभता (schistosity) कुछ अल्प सी रहती है । यह शैल उच्च कोटी के प्रादेशिक कायान्तरण के फलस्वरूप निर्मित होता है ।

gneissic

नाइसी :
नाइस सदृश्य या उसके लक्षणों से युक्त ।

gneiss banding

नाइसी पट्टन :
कायान्तरित व आग्नेय शैलों में विद्यमान एक संरचना जो कि सुस्पष्ट, आश्मिक (lithological) इकाइयों, समानान्तर परतों, रेखाओं व लेंटीकल के एकान्तरण (alternating) से निर्मित होती है ।

gneissose structure

नाइसी संरचना :
कायान्तरित शैलों में (मुख्यतः नाइसी) सिलिसिक और मैफिक खनिज अवयवों के एकान्तरण परतों से निर्मित स्थूल संरेखण-गठन या पट्टाभ संरचना ।

gondite

गोन्डाइट :
गार्नेट (स्पेसार्टाइट) तथा क्वार्टज् से युक्त एक कायांतरित शैल । इस शैल का नामकरण गोन्ड जनजाति से किया गया है ।

Gondwanaland

गोंडवाना महाखंड :
अतीत भूवैज्ञानिक काल में दक्षिणी गोलार्ध में स्थित एक परिकल्पित बृहत् महाद्वीप जिसके विखण्डित होने से वर्तमान दक्षिणी अमरीका, अफ्रीका, अरब प्रायद्वीप, भारत, आस्ट्रेलिया तथा अन्टार्कटिका का निर्माण हुआ ।

Languages

Dictionary Search

Loading Results

Quick Search

Follow Us :   
  भारतवाणी ऐप डाउनलोड करो
  Bharatavani Windows App