भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

< previous1234567Next >

Fact

तथ्य
वह जो वस्तुतः है, अस्तित्ववान् है, या घटित हुआ या होता है।

Facticity

तथ्यात्मकता
जर्मन अस्तित्ववादी विचारक मार्टिन हाइडेगर (Martin Heidegger) के अनुसार, वह स्थिति जिसमें व्यक्ति स्वयं को अकेला नहीं बल्कि एक दुनिया में पाता है जो पहले से ही मौजूद है और जिसे उसने नहीं बनाया है और जिसमें उसका होना उसकी इच्छा-अनिच्छा पर निर्भर नहीं है।

Factitious Correlation

कृत्रिम सहसंबंध
ऐसा सहसंबंध जिसका आधार स्वाभाविक या वस्तुनिष्ठ न हो।
जैसे : किसी भी भाषा में पाए जाने वाले नामों और वस्तुओं का सहसंबंध।

Factual Content

तथ्यात्मक अन्तर्वस्तु
समकालीन दार्शनिकों के अनुसार ऐसी प्रतिज्ञप्तियाँ जो न तो विश्लेषणात्मक हैं और न स्वतोव्याघाती अपितु जो इन्द्रियों द्वारा सत्यापित की जा सकती हैं।

Factual Correlation

तथ्यात्मक सहसंबंध
कृत्रिम (Factitious) सहसंबंध से भिन्न वह सहसंबंध जिसका आधार वास्तविक या वस्तुनिष्ठ होता है।

Factually Empty

तथ्यतः रिक्त
ऐसा कथन जो ताथ्यिक अन्तर्वस्तु से रिक्त अर्थात् जिसके सत्यापन के लिए इंद्रियानुभव की आवश्यकता न हो, तार्किक इंद्रियानुभववादियों के अनुसार स्वतोव्याघाती और विश्लेषी कथन इस प्रकार के होते हैं।

Factual Meaning

तथ्यात्मक अर्थ
ऐसी प्रतिज्ञप्ति का अर्थ जिसकी सत्यता किसी तथ्य पर निर्भर होती है।

Factual Premise

तथ्यात्मक आधारवाक्य
रसल के अनुसार, वह आधारवाक्य जो अनुमान से प्राप्त नहीं है और किसी ऐसी घटना का कथन करती है जो किसी तिथि विशेष में घटित हुई है।

Fair Bet

निष्पक्ष दाँव
वह शर्त जिससे संबंधित पक्ष और प्रतिपक्ष को होने वाले लाभ और हानि की प्रसंभाव्यताएँ गणित की दृष्टि से बिल्कुल बराबर हों।

Faith

आस्था, मत
किसी सत्ता अथवा विचार में विश्वास, जिसके पक्ष अथवा विपक्ष में यथेष्ट प्रमाण उपलब्ध न हों अथवा जो प्रमाणों से बिल्कुल अतीत हो। जैसे : ईश्वर, अमरत्व, नैतिक, आदर्श इत्यादि।

Faksoko

फाक्सोको
तर्कशास्त्र में, साक्षात् आकृत्यंतरण के लिए न्यायवाक्य में द्वितीय आकृति के वैध विन्यास “बारोचो” के लिए प्रयुक्त वैकल्पिक नाम। देखिए “baroco”

Fallacy

तर्कदोष, युक्ति-दोष
तर्क में होने वाला कोई दोष, विशेषतः ऐसे तर्क में जो ऊपर से निर्दोष प्रतीत होता है अथवा, कोई भी दोष जो तर्क की सहायक प्रक्रियाओं के किसी नियम के उल्लंघन से पैदा होता है। जैसे : परिभाषा, हेत्वानुमान इत्यादि में आने वाला दोष।

Fallacy Extra Dictionem

शब्देतर दोष
अरस्तू के वर्गीकरण के अनुसार, वह दोष जो युक्ति में भाषा या शब्दों की अनेकार्थकता से नहीं आता। जैसे : अव्याप्त हेतु-दोष।

Fallacy In Dictione

शैली-दोष
अरस्तू के वर्गीकरण के अनुसार, वह जो युक्ति में भाषा या शब्दों की अनेकार्थकता के कारण उत्पन्न होता है। जैसे : पदाघात-दोष (fallacy of accent) या द्वयार्थक-हेतु दोष (fallacy of ambiguous middle)।

Fallacy Of Absolute Priority

निरपेक्ष-प्राथमिकता दोष
वह मिथ्या धारणा कि प्रत्येक घटना-क्रम में पूर्ववर्ती-परवर्ती का संबंध निरपेक्ष है, अर्थात् जो पूर्ववर्ती है वह परवर्ती नहीं हो सकता। जैसे : यदि अज्ञान गरीबी का पूर्ववर्ती है तो गरीबी अज्ञान का पूर्ववर्ती नहीं हो सकती।

Fallacy Of Accent

पदाघात-दोष, स्वराघात-दोष
वाक्य में गलत शब्दों के ऊपर बल देने से उत्पन्न होने वाला दोष। जैसे ; “तुम अपने पड़ोसी के विरूद्ध झूठी गवाही नहीं दोगे”, इस वाक्य में “पड़ोसी” के ऊपर जोर देने से यह अर्थ निकलता है कि जो पड़ोसी नहीं है उसके विरूद्ध झूठी गवाही दी जा सकती है, जो की मूल वाक्य की दोषपूर्ण व्याख्या होगी।

Fallacy Of Accident

उपलक्षण-दोष, उपाधि-दोष
यह दोष तब होता है जब किसी सामान्य रूप से सत्य कथन को किन्हीं आकस्मिक या विशिष्ट परिस्थितियों में भी सत्य मान लिया जाता है।
उदाहरण : पानी तरल होता है;
बर्ष पानी है;
इसलिए बर्फ तरल है।
[“fallacy of converse accident” से भेद करने के लिए इसे “direct fallacy of accident” भी कहते है।]

Fallacy Of Affirming The Consequent

फलवाक्य-विधान-दोष
पक्ष-आधारवाक्य में फलवाक्य का विधान करके निष्कर्ष में हेतुवाक्य का विधान करने का दोष। जैसे : “यदि अ है तो ब है; ब है अतः अ है, ‘या’ यदि कोई राजस्थानी है तो वह भारतीय है; अप्पास्वामी भारतीय है इसीलिए वह राजस्थानी है”।

Fallacy Of Ambiguous Major

द्वयर्थक-साध्य-दोष, संदिग्ध साध्य-दोष
साध्य-पद की द्वयर्थकता से युक्ति में उत्पन्न होने वाला दोष।
उदाहरण : कन्नोज में रहने वाले कनौजिया हैं;
रामसिंह क्षत्री कन्नौज का रहने वाला है;
अतः रामसिंह क्षत्री कनौजिया (ब्राह्मण) है।

Fallacy Of Ambiguous Middle

द्वयर्थक-हेतु-दोष, संदिग्ध हेतु-दोष
हेतु-पद की द्वयर्थकता से युक्ति में उत्पन्न होने वाला दोष।
उदाहरण : सभी द्विज जनेऊ पहनते हैं;
सभी पक्षी द्विज हैं;
अतः, सभी पक्षी जनेऊ पहनते हैं।
< previous1234567Next >

Languages

Dictionary Search

Loading Results

Quick Search

Follow Us :   
  भारतवाणी ऐप डाउनलोड करो
  Bharatavani Windows App