भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

Antistrophon Argument

स्वपक्षघाती युक्ति
विरोधी द्वारा दी गई ऐसी युक्ति जिसका उसी के विरूद्ध प्रयोग किया जा सके।

Anti-Symmetric Relation

प्रतिसममित संबंध
देखिए “asymmetrical relation”।

Anti-Symmetry

प्रतिसममिति
देखिए “asymmetry”।

Anti-System

प्रतितंत्र, तंत्र-विरोध
किसी दार्शनिक तंत्र के विरोघ में बना हुआ कोई अन्य तंत्र।

Antithesis

प्रतिपक्ष
हेगेल के दर्शन में, द्वंद्वात्मक न्याय का वह चरण जो पक्ष का निषेध करता है और अगले संपक्ष चरण में स्वयं भी पीछे छूट जाता है। देखिए thesis और synthesis। कांट के दर्शन में, तर्कबुद्धि के विप्रतिषेधों (antinomies) में से निषेधक प्रतिज्ञप्ति।

Antithetics

विप्रतिषेध मीमांसा
कांट के अनुसार तर्कबुद्धि के विप्रतिषेधों के पारस्परिक विरोध और उस विरोध के कारणों का अध्ययन करने वाला शास्त्र।

Antithetic

विप्रतिषेधात्मक
इस शब्द का प्रयोग किसी भी ऐसी प्रतिज्ञप्ति या युक्ति के लिए होता है जो किसी दूसरी प्रतिज्ञप्ति या युक्ति का विरोध करता है।

Apagoge

1. अपगमन : देखिए “abduction”।
2. असंभवापति : देखिए “reductio ad absurdum”।

Apeiron

अपरिच्छिन, अपरिमित
अनैक्जिमंडर (Anaximander) के दर्शन में, मूल प्रकृति जो अनियत और अपरिमित है तथा जिससे सभी वस्तुएँ उत्पन्न होती हैं।

Apercu

सद्योदर्शन
किसी वस्तु का तात्कालिक रूप में होने वाला अंतःप्रज्ञात्मक बोध।

Aphthartodocetism

अविकार्यवाद
छठी शताब्दी के ईसाई सम्प्रदाय के अनुसार, वह मत कि दैवी प्रकृति से एक हो जाने के पश्चात् ईसा का शरीर विकाररहित हो गया था।

Apocalypticism

भविष्योद्घोषवाद
पुराकालीन यहूदी धर्म में और प्रारंभिक ईसाई काल में पनपी एक चिंतन-धारा जिसका उद्देश्य धर्म में आस्था रखने वालों को हर अन्याय और दुर्भाग्य के विरूद्ध अविचलित बनाए रखना था और उनमें यह आस्था बनाये रखना था कि शीघ्र ही स्थिति बदलेगी और पापात्माओं का विनाश होगा।

Apocrypha

कूटग्रंथ, गुह्यलेख
वे ग्रंथ या लेख जिनके लेखक संदिग्ध अथवा अज्ञात हों। इस शब्द का शुरू में उन ग्रंथों के लिए प्रयोग होता था जिनमें गुह्य ज्ञान अथवा जनता के लिए हानिकर समझा जाने वाला ज्ञान निहित होता था और इस आधार पर जो जनता से छिपाकर रखे जाते थे।

Apodeictic Knowledge

निश्चय ज्ञान
किसी भी वस्तु या विषय का अनिवार्य रूप से निश्चित ज्ञान।

Apodeictic Proposition

निश्चय प्रतिज्ञप्ति
निश्चित रूप से होने वाली बात का कथन करने वाली प्रतिज्ञप्ति।

Apodosis

फलवाक्य
किसी सोपाधिक प्रतिज्ञप्ति का उत्तर-भाग जो पूर्व-भाग पर आश्रित होता है, जैसे ‘यदि क, तो ख’ में तो ‘ख’।

Apokatastasis (=Apocatastasis)

सर्वोद्धार, सर्वमुक्ति
ईसाई धर्म में, विशेषतः यह विश्वास कि अंत में ईश्वर सभी पापियों को अपनी शरण में ले लेता है और वे स्वर्गीय आनन्द के भागी बनते हैं।

Apologetics

मंडनविद्या
विशेषतः ईसाई धर्मशास्त्र का वह भाग जिसका कार्य विधर्मियों की आलोचना का समुचित उत्तर देना तथा अपने सिद्धांतों को तर्कों से युक्तियुक्त सिद्ध करना होता है।

Apology

मंडन, समर्थन
किसी के समर्थन में दिया गया भाषण या लिखा गया लेख।

Apophansis

उद्देश्य-विधेयात्मक प्रतिज्ञप्ति
प्रतिज्ञप्ति का अरस्तूकालीन नाम जो कि उसके स्वरूप को उद्देश्य-विधेयात्मक मानने पर आधारित है।

Languages

Dictionary Search

Loading Results

Quick Search

Follow Us :   
  भारतवाणी ऐप डाउनलोड करो
  Bharatavani Windows App