Warning: session_start(): open(/tmp/sess_0ad000b128491326d8bc550dadadbcd5, O_RDWR) failed: Read-only file system (30) in /home/bharat2016/public_html/wp-content/plugins/wordpress-social-login/wp-social-login.php on line 64

Warning: session_start(): Cannot send session cache limiter - headers already sent (output started at /home/bharat2016/public_html/wp-content/plugins/wordpress-social-login/wp-social-login.php:64) in /home/bharat2016/public_html/wp-content/plugins/wordpress-social-login/wp-social-login.php on line 64

Warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /home/bharat2016/public_html/wp-content/plugins/wordpress-social-login/wp-social-login.php:64) in /home/bharat2016/public_html/wp-content/plugins/wp-super-cache/wp-cache-phase2.php on line 1183
Dictionary | भारतवाणी

भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Western Music Definitional Dictionary (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

Natural

(1) शुद्ध : वह स्वर जो विकृत न हो।
(2) प्रतिवर्तक (चिह्र) : वह चिह्र जिसे स्वर के पूर्व लगाने से विकृत स्वर शुद्ध हो जाता है।

Neo-modal

नव-मेल युक्ति
धुन एवं सहस्वरता का आधुनिक प्रचलित नवीनतम प्रकार।

Neumes

न्यूमस स्वरांकन पद्धति
नवीं शताबदी में प्रचलित एक स्वरांकन पद्धति जो आधुनिक पाश्चात्य स्वरलिपि पद्धति का आधार है।

Nobile (noble)

निखरा
निखारवाला।

Node

निस्पंद
आन्दोलित तार का विश्रांति स्थान।

Nonet

नवक (प्रबंध)
(1) नौ ध्वनियों अथवा नौ वाद्यों की रचना।
(2) नौ कलाकारों का समूह।

Non troppo

अनतिशय (संकेत)
किसी भी संकेत को अतिशय से पालन न करने का संकेत।

Nota cambiata

उल्लंघी स्वरावली
चार स्वरों का समूह जिसमें क्रमशः दूसरा और तीसरा स्वर मूल संघात का विवादी होता है और जिनके बीच के स्वर का लंघन होता है।

Notation

(1) स्वरांकन–संगीत को लिपिबद्ध करने की पद्धति या प्रक्रिया।
(2) स्वरलिपि : संगीत की अपनी विशिष्ट लिपि।

Note

स्वर
(1) संगीत की निश्चित तारता वाली ध्वनि की इकाई।
(2) इस निश्चित ध्वनि को दर्शाने वाला लिखित संकेत।
(3) इस ध्वनि को उत्पन्न करने वाला बाजे का परदा।

Nut

तारदान
तार वाले वाद्यों के अग्रभाग का उठा हुआ वह स्थान जिस पर तार टिके होते हैं और जो घुड़च की विपरीत दिशा में होता है।

Nut (of a bow)

नट
तंत्री वाद्यों के गज में हाथी दांत या सख्त लकड़ी का बना वह हिस्सा जिसमें बाल फंसे होते हैं और जिसकी सहायता से बालों को कसा या ढीला किया जा सकता है।

Languages

Dictionary Search

Loading Results

Quick Search

Follow Us :   
  भारतवाणी ऐप डाउनलोड करो
  Bharatavani Windows App

Warning: Unknown: open(/tmp/sess_0ad000b128491326d8bc550dadadbcd5, O_RDWR) failed: Read-only file system (30) in Unknown on line 0

Warning: Unknown: Failed to write session data (files). Please verify that the current setting of session.save_path is correct (/tmp) in Unknown on line 0