भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

< previous12345678Next >

Sage

ऋषि
भारतीय परंपरा में साधना की दृष्टि से समुन्नत वह व्यक्ति जो आध्यात्मिक जीवन में सहज स्थित हो चुका है।

Saint

संत, साधु
नैतिक एवम् आध्यात्मिक दृष्टि से प्रबुद्ध, वह धर्मात्मा जो जीवन के अलौकिक पक्ष का अधिकारी है।

Saintliness

साधुता
वे सहज गुण जो एक संत में स्वाभाविक रूप से विद्यमान होते हैं तथा उसके जीवन एवम् आचरण में प्रतिबिम्बित होते हैं।

Salvation

मुक्ति, मोक्ष
पाप या कर्म के फल से, जिसकी शाश्वत नरक-दंड, सांसारिक बंधन, जन्म-मृत्यु के अविच्छिन्न चक्र इत्यादि के रूप में कल्पना की गई है, सदा के लिए छुटकारा,जिसे सभी धर्मों ने अपना लक्ष्य बनाया है, हालाँकि उसके स्वरूप और उपायों के बारे में उनमें मतभेद है।

Sanction

अनुशास्ति
व्यक्ति को नैतिक आचरण के लिए प्रोत्साहित करने वाला सामाजिक सम्मान इत्यादि के रूप में प्राप्त पुरस्कार अथवा कर्तव्य के उल्लंघन या कदाचरण के लिए समाज के कानून द्वारा या प्रकृति या ईश्वर के द्वारा दिए जाने-वाले दंड का भय।

Saviour

त्राता
धार्मिक दृष्टिकोण से वह देवता अथवा अवतारी पुरूष जो भक्तजनों, सज्जनों और जीव मात्र के रक्षक हों।

Scepticism (=Skepticism)

संशयवाद
वह मत कि पूर्ण, असंदिग्ध या विश्वसनीय ज्ञान की प्राप्ति असंभव है, अथवा किसी क्षेत्र-विशेष में (तत्वमीमांसीय, नीतिशास्त्रीय, धार्मिक इत्यादि) या साधन-विशेष (तर्कबुद्धि, प्रत्यक्ष, अंतःप्रज्ञा इत्यादि) से ऐसा ज्ञान प्राप्त नहीं हो सकता।

Schema

आकार, साँचा
1. पारंपरिक तर्कशास्त्र में सांतरानुमान के आकार।
2. सत्ता मीमांसा में हमारे अनुभवों पर उन आकारों का प्रयोग जिनसे वस्तुओं का ज्ञान होता है।
3. ज्ञान मीमांसा में उन अवधारणाओं का उपयोग, जिनसे हमारे अनुभव के विषय सुसंबद्ध और आकारित होते हैं।

Schism

मत विभाजन, मतभेद, पृथकता
1. किसी समुदाय अथवा संस्था में मत का विभाजन जिससे उपवर्ग और पृथकता की संभावना होती है।
2. उपवर्ग का यथार्थ पृथकत्व।

Scholasticism

पांडित्यवाद, स्कॉलेस्टिकवाद
एक वैचारिक आन्दोलन या चिंतन पद्धति जिसका पश्चिमी यूरोप में नवीं शताब्दी के बाद से सत्रहवीं शताब्दी के पहले तक प्रभाव रहा। इसमें ईसाई धार्मिक सिद्धांतों का प्राधान्य रहा और उन्हीं की सीमाओं के अंदर रहते हुए दार्शनिक समस्याओं का समाधान खोजा गया।

Scientific Classification

वैज्ञानिक वर्गीकरण
वस्तुओं को उनकी आवश्यक और मौलिक समानताओं के आधार पर एकाधिक समूहों में रखना, जैसे, प्राणिविज्ञान में, प्राणियों को कशेरूकी और अकशेरूकी नामक समूहों में रखना। इसे ‘प्राकृतिक वर्गीकरण’ भी कहते हैं।

Scientific Empiricism

वैज्ञानिक इंद्रियानुभववाद
एक दार्शनिक आन्दोलन जिसका तार्किक प्रत्यक्षवाद से प्रादुभार्व हुआ, परन्तु जिसमें कुछ अन्य संप्रदाय और व्यक्ति भी शामिल हैं। इसे ‘विज्ञान की एकता का आंदोलन’ भी कहा जाता है। इसका तार्किक प्रत्यक्षवाद से पूर्ण मतैक्य है। परन्तु यहाँ विज्ञान की एकता के ऊपर बल दिया गया है। यह विज्ञान की भाषा में तार्किक एकता मानता है : विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के संप्रत्यय मूलतः भिन्न प्रकार के नहीं हैं बल्कि एक तंत्र में संगठित हैं। इसका एक व्यावहारिक उद्देश्य विभिन्न विज्ञानों में प्रयुक्त शब्दावलियों में और अधिक सामंजस्य स्थापित करना है तथा विज्ञान का इस प्रकार विकास करना इसका लक्ष्य है कि भविष्य में परस्पर संबंद्ध आधारभूत नियमों का एक तंत्र प्राप्त हो सके, जिससे विभिन्न विज्ञानों के विशेष नियम निगमित किए जा सकें।

Scientific Explanation

वैज्ञानिक व्याख्या
लोकप्रसिद्ध व्याख्या के विपरीत वह व्याख्या जो तथ्यों को नियमों के अंतर्गत तथा नियमों को और अधिक व्यापक और आधारभूत नियमों के अंतर्गत लाती है तथा अलौकिक बातों का आश्रय नहीं लेती।

Scientific Hypothesis

वैज्ञानिक प्राक्कल्पना
देखिए – “legitimate hypothesis”।

Scientific Induction

वैज्ञानिक आगमन
वह आगमन जिसमें प्रकृति की एकरूपता और कारण-नियम में विश्वास रखते हुए घटनाओं के प्रेक्षण और प्रयोग के द्वारा कोई वास्तविक सर्वव्यापी प्रतिज्ञप्ति स्थापित की जाती है। यदि कारण-नियम और प्रयोग का आश्रय न लिया जाये तो आगमन अवैज्ञानिक माना जाता है।

Scientific Method

वैज्ञानिक विधि
अनुभवात्मक प्रायोगिक तर्कगणितीय अवधारणात्मक व्यवस्था, जिससे सिद्धांतों और अनुमानों के एक साँचे में तथ्यों को व्यवस्थित और सुसंबद्ध किया जाता है। वैज्ञानिक विधि की मान्यता है कि प्रत्येक कार्य का एक निश्चित कारण होता है और कारण में अनुभवात्मक ज्ञान से कार्य का निगमन या उसकी भविष्यवाणी की जाती है। वैज्ञानिक विधि एक तदर्थ प्राक्कल्पना से प्रारम्भ होती है, जो किसी घटना की व्याख्या करती है।

Scientism

विज्ञानपरता
कुछ विचारकों, विशेषतः मैश (Mach) इत्यादि प्रत्यक्षवादियों का, विज्ञान, उसकी प्रणालियों, उसकी भाषा तथा वैज्ञानिकों की ओर अत्याधिक झुकाव और फलतः उनका यह विश्वास कि प्राकृतिक विज्ञानों की अनुसंधान-प्रणाली सामाजिक विज्ञानों तथा दर्शन में भी अनुसरणीय है।

Secondary

गौण
वह गुण या तत्व जो स्वतंत्र न होकर मुख्य तत्व पर निर्भर हों।

Secondary Qualities

गौण गुण, द्वितीयक गुण
जॉन लॉक के अनुसार, वस्तुओं के प्रतीत होने वाले वे गुण जो उनमें वस्तुतः नहीं होते बल्कि ज्ञाता के मन में वस्तु के प्राथमिक गुणों के कारण उत्पन्न होते हैं। ऐसे गुण हैं, रंग, ध्वनि, गंध, स्पर्श तथा स्वाद। मनुष्य की चेतना में ये विभिन्न रूपों में प्रस्तुत होते हैं तथा परिवर्तनशील होते हैं।

Secular

पार्थिव, लौकिक, ऐहिक
धार्मिकता, दिव्यता और अलौकिकता का निषेधात्मक प्रत्यय।
< previous12345678Next >

Languages

Dictionary Search

Loading Results

Quick Search

Follow Us :   
  भारतवाणी ऐप डाउनलोड करो
  Bharatavani Windows App